बलरामपुर जिले के रानीजोत गांव की एकता की पढ़ाई दो साल पहले ही सातवीं क्लास में रुकने वाली थी। अबतक उसकी शादी भी हो जाती। लेकिन मदद की उम्मीद का हर संभव दरवाजा खटखटा कर एकता ने आखिरकार अपने को बचा लिया। एकता के जीवन में आये इस बड़े बदलाव की छोटी वीडियो कथा तैयार की है स्मार्ट बेटियां अभियान से जुड़ी इंटरनेट साथी श्वेता शुक्ला ने।

Share:

Related Articles: