टनकपुर में मर्म चिकित्सा शिविर का आयोजन

अमर उजाला फाउंडेशन, मृत्युंजय मिशन और आरोग्यम फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में उत्तराखंड के टनकपुर स्थित संयुक्त चिकित्सालय में 24 से 26 फरवरी, 2018 तक निःशुल्क मर्म चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा हैं। मर्म चिकित्सा का लाभ उठाने को सुबह से ही अस्पताल परिसर में विभिन्न असाध्य माने जाने वाले रोगों एवं शरीर के विभिन्न अंगों में दर्द से परेशान लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। उनके चेहरों पर मर्म चिकित्सा से स्वास्थ्य लाभ की उम्मीद साफ झलक रही थी और हुआ भी वही।

अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चिकित्सक डॉ. सुनील जोशी एवं अन्य चिकित्सकों की टीम द्वारा मर्म चिकित्सा से उपचार करते ही कई मरीजों की तकलीफ छू मंतर हुई तो कई मरीजों को काफी हद तक फायदा पहुंचा। चलने-फिरने में असमर्थ वर्षों से बिस्तर पर लेटकर जिंदगी काट रहे लोग मर्म बिंदुओं को उत्प्रेरित करने से उठ खड़े हुए। ज्ञानखेड़ा टनकपुर निवासी 68 वर्षीय ऊषा बिष्ट के साथ तो जैसे कोई चमत्कार ही हुआ है। वे पिछले बीस वर्षों से पैरों में दर्द से परेशान थीं और चलने-फिरने में असमर्थता के कारण पांच वर्षों से बिस्तर पर लेटी थीं। उन्हें शिविर में लाया तो स्ट्रेचर में गया था, लेकिन मर्म चिकित्सा से उपचार के बाद वह सहारे से अपने पैरों से चलकर गई। शरीर के विभिन्न अंगों में दर्द से कराहते मरीजों को भी मर्म चिकित्सा से बेहद फायदा मिल रहा है। शिविर के उद्घाटन मौके पर डॉक्टरों की टीम के अलावा लायंस क्लब अध्यक्ष नरेश अग्रवाल, विनय अग्रवाल, संजय मगन बिहारी, राजीव आर्य, भुवन चंद्र जोशी, रवि कुमार प्रजापति आदि मौजूद थे।

बता दें कि पिथौरागढ़ में एक से पांच अक्तूबर तक मर्म चिकित्सा शिविर लगने के बाद यह दूसरा शिविर शनिवार से संयुक्त चिकित्सालय में शुरू हुआ है। शिविर का शुभारंभ अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त मर्म चिकित्सक प्रोफेसर डॉ. सुनील कुमार जोशी, नगर पालिका अध्यक्ष लक्ष्मी पांडेय एवं संयुक्त चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एचएस ह्यांकी ने आयुर्वेद के भगवान धनवंतरी के चित्र के समक्ष दीप जलाकर एवं फीता काटकर किया। शिविर के पहले दिन साढ़े तीन से ज्यादा मरीजों की मर्म चिकित्सा हुई।

इस मौके पर आज सार्वभौमिक सर्वकालिक मर्म चिकित्सा विज्ञान से समग्र स्वास्थ्य विषय पर दोपहर तीन बजे से स्पोर्ट्स स्टेडियम सभागार में संगोष्ठी का भी आयोजन किया जा रहा हैंl संगोष्ठी में बतौर मुख्य वक्ता अन्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त मर्म चिकित्सक डॉ. सुनील जोशी होंगेl शिविर में इलाज के लिए पंजीकरण अभी भी जारी हैंl गौरतलब हो कि मर्म चिकित्सा के माध्यम से कई असाध्य रोगों का इलाज किया जा सकता हैंl  

ये मर्म चिकित्सक कर रहे हैं उपचार
अमर उजाला फाउंडेशन, मृत्युुंजय मिशन एवं आरोग्यम फाउंडेशन के तत्वावधान में चल रहे मर्म चिकित्सा शिविर में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त मर्म चिकित्सक डॉ. सुनील जोशी के अलावा डॉ. जगदीश सती, डॉ. आशुतोष पंत, डॉ. संजीव गुप्ता, डॉ. मो. शाहिद, डॉ. अजय अग्रवाल, डॉ. लता मलकानी, डॉ. रेनू जोशी, केएन दीक्षित, ललित कुमार, नमिता पंत, सुमन करगेती, मयंक जोशी, ज्ञान प्रकाश, धीरज पाठक, दिनेश पंत, रंजना प्रकाश शामिल हैं।

शिविर में इन रोगों का हो रहा है उपचार
मर्म चिकित्सा शिविर में प्रोलैप्स स्लिप डिस्क, संधिवात (रूमेटाइड आर्थराइटिस) घुटने खराब होना (आस्टिया आर्थराइटिस) गठिया, लंगड़ापन, सर्वाइकल स्पॉन्डोलाइटिस, फ्रोजन शोल्डर, लकवा, पोस्ट पोलियो पैरेसिस, कार्पल टनल, सिन्ड्रोम, सेरिब्रल पाल्सी, डाउन सिन्ड्रोम, माइग्रेन, दमा, रक्तचाप, हृदयरोग, स्नायु (न्यूरोलॉिजिकिल) रोगों का इलाज हो रहा है।

Share:

Related Articles: