तीसरे राष्ट्रीय कराटे प्रतियोगिता में 10 राज्यों के 554 खिलाडियों ने लिया हिस्सा

अमर उजाला फाउंडेशन और मानव एकेडमी ऑफ़ मार्शल आर्ट के संयुक्त तत्वावधान में वाराणसी के सम्पूर्णानन्द स्पोर्ट्स स्टेडियम में 15 से 17 दिसम्बर, 2017 तक आयोजित तीसरे राष्ट्रीय ओपन कराटे प्रतियोगिता के महाकुंभ में 10 राज्यों के 554 खिलाडियों ने हिस्सा लियाl कराटे चैंपियनशिप के समापन समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि जिसके पास दृढ़ता है, आत्मविश्वास है आत्मानुशासन है, वह जीवन में कभी किसी परेशानी में नहीं फंसेगा।

कराटे आपके जीवन में ये सारे गुण भर देता है। अनुप्रिया ने कहा, कराटे बिना किसी हथियार के आत्मरक्षा करने का तरीका है। अमर उजाला फाउंडेशन की यह पहल समाज में सकारात्मक संदेश देगी। बैडमिंटन हाल में मौजूद प्रतिभागियों को देखकर अपना बचपन याद आ गया। बताया, मैंने भी कभी करातेकाओ की ड्रेस पहनी थी। प्रारंभिक स्तर पर कराटे की खिलाड़ी रही हूं। हालांकि मेरा यह शौक पूरा ही नहीं हो सका और बीच में ही छोड़ना पड़ा। इसके साथ ही उन्होंने कहा, मुझे खुशी है कि बेटियां बेटों से ज्यादा संख्या में कराटे सीख रही हैं। प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं। कहा, पहले कहावत हुआ करती थी पढ़ोगे लिखोगे होगे नवाब, खेलोगे कूदोगे होगे खराब। लेकिन अब बदलते समय के साथ कहावत बदल गई है। प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि खेलोगे तो खिलोगे। मार्शल आर्ट्स आपको दृढ़ता सीखाती है आप एक दूसरे को प्रेरणा दे सकते हैं।

Share:

Related Articles: