अलीगढ़ के टीआर डिग्री कॉलेज में हुई पुलिस की पाठशाला।
अलीगढ़। इस बार पुलिस की पाठशाला में छात्राओं ने मन की बातें मुखरता से साझा कीं। टीआर डिग्री कॉलेज के खचाखच भरे सभागार में अमर उजाला फाउंडेशन के ‘रक्षा सूत्र’ की दूसरी कड़ी में नियम कानून के पालन पर सबने अपना-अपना पक्ष रखा। छात्राओं ने घर के एकाकी जीवन, बाजार और सड़क पर चलने पर होने वाली छींटाकशी से लेकर कॉलेज और रोजगार तक के सवाल पूछे।
 
मुख्य अतिथि एसएसपी जे. रविंदर गौड़ ने सभी सवालों का जवाब दिया और कुछ पर तुरंत ही अमल करने के निर्देश भी दे दिए। उन्होंने कहा कि छात्राएं उनके कार्यालय में आएं और वहां आने वाले फरियादियों की समस्याओं के खुद ही निराकरण सुझाएं ताकि वह पुलिसिंग को करीब से समझें। सभी अगर पुलिस का साथ दें तो अपराधों को रोकने में आसानी होगी।
 
अमर उजाला के संपादक अरुण आदित्य ने कहा कि नियम कानून का पालन करने के बाद ही सिस्टम को सुधारा जा सकता है। एसओ क्वार्सी विनोद कुमार ने कहा कि 24 घंटे तक कभी भी उनके सीयूजी नंबर पर फोन कर मदद ली जा सकती है। कॉलेज की कार्यवाहक प्राचार्य प्रतिमा श्रीवास्तव, भाविप की दिव्या लहरी, यूपी की कल्चरल ब्रांड अंबेसडर पूनम सारस्वत, डॉ. हेमलता अग्रवाल, डा. कृष्णा वाजपेयी, कई शिक्षिकाएं और दर्जनों छात्राएं यहां मौजूद रहीं।
 
अक्सर कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि देर से पहुंचते हैं जबकि छात्राओं को समय से पहुंचने को कहा जाता है। क्या छात्राओं के वक्त की कीमत नहीं है? - मोनिका कौशिक, छात्रा
सोमना से रोजाना ईएमयू ट्रेन से आते हैं लेकिन महिला कोच में पुरुषों की भीड़ के कारण सफर में बहुत परेशानी होती है महिला कोच खाली कराएं। - रेशू कुमारी, छात्रा
क्वार्सी चौराहे पर तैनात महिला पुलिस की तर्ज पर एक पार्टी गर्ल्स कालेज के बाहर भीड़ के वक्त तैनात की जाए। शक्ति मोबाइल भी लगाई जाए। - लकी गुप्ता, शिक्षिका
हादसों के दौरान पुलिस के साथ मौके पर एंबुलेंस भी पहुंचे तो ‘गोल्डन टाइम’ में घायलों की जान बच सकती है। अक्सर देरी से मौत होती है। - कविता भाटिया, शिक्षिका
 
फोन करें मदद लें
1090 लखनऊ से संचालित महिला हेल्पलाइन
1091 अलीगढ़ से संचालित महिला हेल्पलाइन
1073 अलीगढ़ की ट्रैफिक पुलिस की हेल्पलाइन
Share:

Related Articles: