मेरठ के दिल्ली पब्लिक स्कूल में आयोजित पुलिस की पाठशाला को संबोधित करते एसपी एमएम बेग।

मेरठ। पुलिस केवल लोगों की सुरक्षा करने वाला तंत्र नहीं है, बल्कि वह सुरक्षा घेरा है जो समाज के हर वर्ग को सुरक्षित होने का एहसास दिलाता है। त्योहारों पर पूरा देश खुशियां मना रहा होता है, तब पुलिस परिवार से दूर लोगों की सुरक्षा करती है। इन सबके बीच अगर युवा साथ दें तो पुलिस अपना काम और मजबूती से कर सकती है। यह बात शुक्रवार को दिल्ली पब्लिक स्कूल, बागपत रोड में अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से पुलिस की पाठशाला में मुख्य अतिथि एसपी देहात कैप्टन एमएम बेग ने युवाओं से कही। इस दौरान उन्होंने छात्रों से अपने विदेश दौरों के रोचक अनुभव साझा किए। साथ ही पुलिस की नौकरी की चुनौतियों और दुश्वारियों के बारे में बताया। स्कूल प्रिंसिपल सविता चड्ढा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया।

एसपी देहात ने कहा कि युवा मन नकारात्मक चीजों के प्रति तेजी से आकर्षित होता है। वर्तमान समय में होने वाले अपराधों में अधिकांश युवा संलिप्त होते हैं। कम समय में बहुत कुछ पाना, धन, नाम और शोहरत पाने की अति महत्वाकांक्षा में युवा गलत रास्ता अपना लेता है। इससे बचना होगा। स्कूल की प्रिंसिपल सविता चड्ढा ने कहा कि छात्रों को पुलिस की गतिविधियों से अवगत कराने के लिए अमर उजाला फाउंडेशन की पुलिस की पाठशाला की पहल बहुत सराहनीय है। युवाओं को हर क्षेत्र में गाइडेंस की जरूरत है।
 
पाठशाला में भावी पीढ़ी को संबोधित करते हुए एसपी देहात कैप्टन एमएम बेग ने युवाओं को उनकी ड्यूटी समझने का संदेश दिया। यदि हम विदेशों के सिस्टम और वहां के अनुशासन की तारीफ करते हैं तो उसका कारण भी जानें। विदेशों की तरह हमारे देश के युवा और नागरिक अगर नियमों का पालन करना सीख जाएं, अपनी जिम्मेदारियां समझने लगें, सड़कों को अपनी संपत्ति समझकर उनका ख्याल रखें तो हमारे देश में भी सिस्टम सुधर जाए। बशर्ते युवा नियमों का पालन करना सीखें।
 
Share:

Related Articles: