अमर उजाला फाउंडेशन की मदद से हौसलों को मिली उड़ान

अगर आप पढ़ाई में अच्छे हैं लेकिन आर्थिक परेशानी के चलते आगे की पढाई करने में असमर्थ महससू कर रहे हैं, तो घबराइएं नहीं। आप जैसे होनहारों के लिए अमर उजाला फाउंडेशन लेकर आया है आशा की किरण। वह है, अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति। अगर आपने अभी तक फर्म नहीं भरा तो जल्द से जल्द भरें। इस वर्ष अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा-2019 की फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 31 अगस्त है। इसके लिए फाउंडेशन की वेबसाइट https://foundation.amarujala.com/ या फिर अमर उजाला की वेबसाइट https://www.amarujala.com/ पर या फिर इस लिंक https://www.amarujala.com/atul-maheshwari-chhatravritti-2019 पर जाकर फार्म भरा जा सकता है।

फार्म में मांगी गई सभी जानकारियां देना अनिवार्य होगा। लिखित परीक्षा ऑनलाइन नहीं बल्कि विभिन्न शहरों में निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर होगी। फार्म भरते समय लिखित परीक्षा के लिए विद्यार्थी अपनी सुविधा अनुसार शहर का चयन कर सकेंगे। इसके लिए 52 शहरों का विकल्प फार्म में दिया गया है। पिछली बार की तरह ही इस बार नवीं और दसवीं के प्रादेशिक बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए 30-30 हजार रुपये की 18 छात्रवृत्तियां और 11वीं-12वीं के विद्यार्थियों के लिए 50-50 हजार रुपये की 18 छात्रवृत्तियां दी जाएंगी। इस वर्ष की छात्रवृत्ति की परीक्षा में भाग लेने के लिए प्रादेशिक शिक्षा बोर्ड से नवीं से 12वीं कक्षा तक में पढ़ने वाले और पिछली वार्षिक परीक्षा में न्यूनतम 60 फीसदी अंक पाने वाले वे विद्यार्थी पात्र होंगे जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय डेढ़ लाख रुपये से कम हो। आवेदन केवल ऑनलाइन ही किए जा सकेंगे।

अमर उजाला फाउंडेशन की मदद से इनके हौसलों को मिली उड़ान


जज बनकर करूंगी सेवा : साक्षी

अगर अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति नहीं मिलती तो शायद ही मैं अपना समना कभी पूरा कर पाती। मैं इस समय लखनऊ विश्वविद्यालय से एलएलबी कर रहू हूं। आज भी अमर उजाला फाउंडेशन ही मेरी पढ़ाई में पूरी मदद कर रहा है। मैं जज बनकर जहां माता-पिता का सपना पूरा करूंगी वहीं फाउंडेशन का नाम भी रोशन करूंगी। गौरतलब है कि गोरखपुर निवासी साक्षी गुप्ता ने दो बार अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति पाने में सफलता हासिल की।

सीए की कर रही हूं तैयारी : मोनिका
मन में सपना था सीए बनने का, लेकिन आर्थिक स्थिति मुंह बाए खड़ी थी। इसी बीच अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा मेरे लिए एक तरह से देव दूत बनकर आया। मैं सफल हुई और अमर उजाल फाउंडेशन ने मेरी सीए बनने के सपने को साकार करने में मदद की। इस समय मैं सीए की तैयारी कर रही हूं। पूरा खर्च फाउंडेशन कर रहा है। गौरतलब है कि हिसार जिले की मोनिका जांगड़ ने हरियाणा शिक्षा बोर्ड में वाणिज्य संकाय में प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त किया। 

इनमें से किसी भी लिंक पर क्लिक करें और आवेदन फॉर्म भरें- 
https://foundation.amarujala.com/
https://www.amarujala.com/
https://www.amarujala.com/atul-maheshwari-chhatravritti-2019

Share:

Related Articles: