आयुष राणा और शिविका के सपनों को मिली उड़ान

मुजफ्फरनगर। अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से संचालित अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा-2018 में जिले के दो मेधावी विद्यार्थियों का चयन हुआ है। खतौली के गांव लाडपुर निवासी कक्षा नौ के छात्र आयुष राणा और शहर के गांधीनगर निवासी कक्षा 12 की छात्रा शिविका के परिवार में खुशियां छाई है। परिचित और रिश्तेदार बधाई दे रहे हैं। परिजनों ने कहा कि अमर उजाला ने उनके बच्चों का भविष्य संवार दिया है। इनके सपनों को नई उड़ान मिली है। 

एनडीए में अफसर बनना चाहते है आयुष :
अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा-2018 के घोषित परिणाम में लाडपुर के आयुष राणा का चयन हुआ है। खतौली के गांव लाडपुर निवासी किसान भरत सिंह राणा का बड़ा बेटा आयुष राणा खतौली के शिशु शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज में कक्षा नौ का छात्र है। मां ममता राणा खतौली में एक निजी कंपनी में जॉब करती हैं। छोटा भाई दीवांशु कक्षा पांच में पढ़ता है। आयुष खतौली के पास गांव भंगेला में अपने नाना बलबीर सिंह और नानी सरला देवी के पास रह कर पढ़ाई कर रहा है। आयुष का चयन अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा में होने पर परिवार में खुशी का ठिकाना नहीं है। परिजनों ने बताया कि अमर उजाला ने अपार खुशी दी है, जिसे बयां नहीं किया जा सकता। आयुष ने बताया कि वह पहली बार अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा में शामिल हुआ और उसे कामयाबी मिली है। उसने बताया कि वह इंडियन नैवी में अफसर बनना चाहता है। छात्रवृत्ति से वह अपना भविष्य संवारेगा। 

आईआईटी कर इंजीनियर बनना चाहती है शिविका :
अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति-2018 के लिए शहर के गांधीनगर निवासी शिविका का भी चयन हुआ है। शिविका सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज नई मंडी की कक्षा 12 की छात्रा है। शिविका ने बताया कि उसने भी पहली बार अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा दी और सफल रही। गत वर्ष उसके कजन ओजस्वी पुडीर का भी चयन अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा-2017 में हुआ था। उसकी प्रेरणा से ही वह भी यह छात्रवृत्ति पाना चाहती थी। अमर उजाला ने उसके सपने को साकार किया है। शिविका बताती है कि वह आईआईटी कर देश की टॉपर इंजीनियर बनना चाहती है। शिविका की कामयाबी से शिक्षक पिता सुनील कुमार, गृहिणी मां संगीता के अलावा बहन ईशिका, छोटे भाई नारायण, दादा ब्रजदत्त पुंडीर, दादी लीलावती समेत तमाम परिजनों में खुशियां छाई है।

Share:

Related Articles: