103 रक्तदाताओं ने किया महादान

 

2 अप्रैल 2017 को देहरादून में अमूल्य जीवन विकास चैरिटेबल सोसाइटी की ओर से ग्लेक्शियन इंटरनेशनल स्कूल में  आयोजित रक्तदान शिविर में 103 यूनिट रक्तदान हुआ। श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ब्लड बैंक और अमर उजाला फाउंडेशन के सहयोग से आयोजित शिविर में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी खून देने पहुंचे।

रविवार को चंद्रबनी स्थित ग्लेक्शियन स्कूल में आयोजित शिविर में रक्तदान के लिए सुबह से ही अभिभावक और स्थानीय लोग पहुंचने लगे। श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ब्लड बैंक के विशेषज्ञों ने रक्त एकत्र करने के साथ ही लोगों को सुरक्षित रक्तदान के बारे में बताया। डा. इशिका ने बताया कि 18 से 65 आयु वर्ग का प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति हर तीन माह के अंतराल में सुरक्षित रक्तदान कर सकता है। निकाले गए रक्त की पूर्ति शरीर अगले 48 घंटों में कर लेता है। जबकि अन्य तत्वों की पूर्ति में 90 दिन का समय लगता है।

उन्होंने सभी लोगों से नियमित स्वैच्छिक रक्तदान की अपील की। वहीं, शिविर में बड़ी संख्या में रक्तदान करने पहुंचे लोगों को अलग-अलग कारणों से खून देने की अनुमति नहीं दी गई। ब्लड बैंक के समन्वयक अमित चंद्रा ने बताया कि रक्तदान करते समय कई तरह की जांचें की जाती हैं। निकाले गए रक्त की भी जांच की जाती है। ऐसे में रक्तदाता के स्वास्थ्य की नियमित तौर पर जांच होती रहती है। नियमित रक्तदान करने वालों को ब्लड प्रेशर, शुगर समेत अन्य कई बीमारियों का खतरा कम रहता है। शिविर आयोजन में मयंक गौड़, बृजपाल सिंह, सुमित कुमार और श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ब्लड बैंक के मोहित चावला, अमिता, लेखनी, मेघनाथ, विकास, राजेश, पूजा, सुभाष और मनीष ने सहयोग दिया।